बुन्देलखण्ड में सेना फिर बनी मददगार, हेलीकॉप्टर से बाढ़ में फंसे किसान को बचाया

ललितपुर, (वेबवार्ता)। ललितपुर में बाढ़ के कारण टापू पर फंसे एक किसान के लिए सेना फिर मददगार के रुप में सामने आयी और हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू ऑपरेशन कर उसकी जान बचायी।

नदियों रौद्र रूप धारण करने के कारण बुन्देलखण्ड में बाढ़ के हालात हैं। ऐसे में नदी के किनारे मौजूदगी लोगों की जान खतरे में डाल रही है। ताजा मामले में तालबेहट तहसील क्षेत्र के कड़ेसराकलां गांव के निकट बेतवा नदी में एक 40 वर्षीय किसान हुकुम सहरिया बीते तीन दिनों से टापू पर फंसा हुआ था, जिसकी जानकारी शनिवार को स्थानीय लोगों को हुई। इस पर उन्होंने तत्काल प्रशासन को सूचना दी।

किसान के रौद्र रूप धारण कर चुकी बेतवा के टापू में फंसे होने की जानकारी जैसे ही जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह को हुई, उन्होंने तालबेहट के उपजिलाधिकारी आजाद भगत सिंह को उसे सुरक्षित निकलवाने के निर्देश दिए। इसके बाद एसडीएम आनन-फानन में तहसीलदार अभिषेक सिंह व अन्य लोगों के साथ जब नदी के किनारे पहुंचे तो जिस टापू पर किसान खड़ा था, उसके पास ही एक अन्य छोटे टापू पर बड़ा मगरमच्छ मौजूद था। ऐसे में उफनाती बेतवा में नाव के जरिए ग्रामीण को सुरक्षित निकालना और खतरनाक साबित हो सकता था। इसलिए इस बारे में जिलाधिकारी को अवगत कराया गया।

इसके बाद जिलाधिकारी ने सेना से मदद मांगी और कुछ देर में सेना का हेलीकॉप्टर मौके पर पहुंच गया। इसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन करके किसान को सुरक्षित निकाल लिया गया। किसान के सुरक्षित वापस आने पर परिरजनों ने जिला प्रशासन और सेना का आभार जताया है। इससे पहले बीती दो सित बर को भी बेतवा नदी के बीच सात चरवाहे कन्धारी कलां गांव के पास टापू में फंस गए थे। जिन्हें सेना ने इसी तरह हेलीकॉप्टर से रेस्क्यू ऑपरेशन कर बचाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *