आजम खां के खिलाफ साजिश ,एफआईआर रद की जाए : अखिलेश यादव

azam khan

लखनऊ समाचार, 18 अक्टूबर (वेबवार्ता)। अमर सिंह द्वारा आजम खां के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने साजिश बताया है। उन्होंने कहा है कि आजम खां के जीवन को खतरा देखते हुए उन्हें पर्याप्त सुरक्षा दी जाए, बदले की भावना से की गई उनके विरूद्ध दाखिल एफआईआर रद्द की जाए। अखिलेश यादव ने बयान जारी कर कहा है कि भाजपा सरकार का जोर समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के प्रति विद्वेष पूर्ण प्रचार कर उनकी छवि बिगाड़ने पर है। राजनीति में धर्मनिरपेक्ष छवि, कुंभ जैसे महापर्व का कुशल संचालन तथा जौहर विश्वविद्यालय जैसी संस्था की स्थापना से चिढ़े हुए भाजपा नेता आजम खां को बदनाम करने और राजनीतिक उत्पीड़न करने की साजिश कर रहे है। समाजवादी सरकार में आजम खां ने कुंभ के आयोजन को सफलता पूर्वक सम्पन्न किया। इसकी प्रशंसा विदेशों तक में हुई। कुंभ पर्व पर उन्होने जनता को तमाम सुविधाएं दी थी। धर्मनिरपेक्षता का इससे बड़ा और क्या प्रमाण हो सकता है? समाजवादी पार्टी और उसके नेताओं के विरूद्ध राजनीति से प्रेरित सभी फर्जी मुकदमे वापस लिए जाए। समाजवादी नेतृत्व को बदनाम करने की कोशिशो को समाजवादी पार्टी बर्दाश्त नही करेगी।डेढ़ साल में भाजपा सरकार ने कुछ नहीं किया अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के डेढ़ वर्ष जनता के लिए बहुत भारी साबित हुए है। सत्ता का इस्तेमाल भाजपा अपने स्वार्थो की पूर्ति के लिए कर रही है। अपने से असहमत विपक्ष के प्रति वह बदले की भावना से काम कर रही है। श्री यादव ने अमर सिंह का नाम लिये बिना उनके आरोपों पर जवाब दिया। कहा कि मीटू की आड़ में एक अभिनेत्री की ओर से धमकी भरी बात करना पूर्णतया आपत्ति जनक और अनर्गल है। आजम खां जैसे व्यक्ति के बारे में कोई गलत बात सोच भी नहीं सकता है उन्हे जेल भेजने की धमकी दी जा रही है। आजम खां ने कभी नफरत की राजनीति नहीं की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *