भारत की पुरूष और महिला हाकी टीम युवा ओलंपिक के फाइनल में

hockey

ब्यूनसआयर्स, 14 अक्टूबर (वेबवार्ता)। भारतीय पुरूष और महिला टीमों ने अपने प्रतिद्वंद्वियों पर आसान जीत के साथ युवा ओलंपिक की हाकी फाइव प्रतियोगिता के फाइनल में प्रवेश किया। भारत ने शनिवार को पुरूषों के फाइनल में मेजबान अर्जेंटीना को 3-1 से जबकि महिला टीम ने चीन को 3-0 से हराया। भारतीय पुरूष टीम फाइनल में मलेशिया से जबकि महिला टीम अर्जेंटीना का सामना करेगी। यह पहला अवसर है जबकि भारत युवा ओलंपिक की हाकी प्रतियोगिता में हिस्सा ले रहा है। इससे पहले उसकी हाकी टीमों पिछले दो युवा ओलंपिक में भाग नहीं लिया था। हाकी फाइव में दोनों टीमों के पांच – पांच खिलाड़ी हिस्सा लेते हैं और इसमें मैदान भी छोटा होता है। सिंगापुर में 2014 में हुए युवा ओलंपिक में पहली बार हाकी फाइव की शुरुआत हुई थी। पुरूषों के सेमीफाइनल में भारत की तरफ से सुदीप चिरमाको (12वें और 18वें मिनट) ने दो जबकि राहुल कुमार राजभर (तीसरे मिनट) ने एक गोल किया।

अर्जेंटीना की तरफ से एकमात्र गोल कप्तान फाकुंडो जारेट ने चौथे मिनट में दागा। मध्यांतर तक दोनों टीमें 1-1 से बराबरी पर थी लेकिन इसके बाद भारतीय टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया। सुदीप ने अगले दस मिनट में दो गोल करके अर्जेंटीना के समर्थकों को निराश करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। अर्जेंटीना ने अंतिम क्षणों में वापसी की कोशिश की लेकिन वह नाकाम रहा। भारतीय गोलकीपर प्रशांत चौहान ने भी अच्छा खेल दिखाया। महिलाओं के सेमीफाइनल में भारत की तरफ से मुमताज खान (पहले मिनट), रीत (पांचवें मिनट) और लालरेमसियामी (13वें मिनट) ने गोल किये। भारत ने मैच में शुरू से ही दबदबा बनाये रखा और गेंद पर कब्जा रखकर चीनी रक्षकों पर दबाव बनाया। मुमताज ने 52वें सेकेंड में ही भारतीय टीम को बढ़त दिला दी। इसके बाद भी भारत ने कई मौके बनाये। खेल के पांचवें मिनट में भारतीय मिडफील्डर रीत ने मध्यपंक्ति से करारा शाट जमाया जिसका चीनी गोलकीपर झिन्यी झू के पास कोई जवाब नहीं था। चीन ने मौके बनाने की कोशिश की लेकिन भारत ने उसकी मंशा पूरी नहीं होने दी तथा मध्यांतर तक 2-0 से बढ़त बनाये रखी। इसके बाद 13वें मिनट में लालरेमसियामी के गोल से भारतीय टीम ने अपनी जीत सुनिश्चित की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *