इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक यानी सुदूर गांवों तक आपका बैंक आपके द्वार

india post payment bank

लखनऊ, 02 सितम्बर (वेबवार्ता)। सुदूर गांवों तक रिश्तों की डोर को मजबूती देने के लिए डाक विभाग ने डिजिटल इंडिया की राह पकड़ ली है। जरूरतमंदों तक बैंकिंग सेवाओं पहुंचाने के उद्देश्य से आज भारतीय डाक भुगतान बैंक यानी इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (आइपीपीबी) का शुभारंभ हो गया। सूत्र वाक्य आपका बैंक, आपके द्वार पर सेवाएं मुहैया कराएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर में आइपीपीबी की शाखाओं और सेवा केंद्रों का एक साथ शुभारंभ किया। दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम का सीधा प्रसारण प्रधान डाकघर में प्रोजेक्ट पर दिखा। विभिन्न जिलों में जनता और सरकार के नुमाइंदों ने इस बैंकिग सेवा की शुरुआत की।

आइपीपीबी के जरिए लोगों को घर बैठे बचत खातों में जमा-निकासी की सुविधा मिल सकेगी। डाकिया व ग्रामीण डाक सेवकों को इसके लिए प्रशिक्षित किया गया है। नजदीक डाकघर में सेवा केंद्र काउंटर खोले गए हैं। जहां से बैंकिंग सेवाओं से जुड़ी दिक्कतों को दूर किया जाएगा। बैंक के शुभारंभ मौके पर प्रशिक्षित डाक कर्मियों को स्मार्ट फोन मुहैया कराए गए हैं। इसके जरिए वह रुपये का लेनदेन ऑनलाइन कर सकेंगे। ग्राहक द्वारा खातों में जमा की जाने वाली रकम डाकिया घर आकर लेगा। क्यूआर कार्ड के जरिए रुपये जमा होंगे। निकासी में भी यूनिक कार्ड का प्रयोग होगा। 31 दिसंबर तक देश के सभी 1.55 लाख डाकघर आइपीपीबी के एक्सेस प्वाइंट के रूप में काम करने लगेंगे। इनमें से 1.30 लाख एक्सेस प्वाइंट गांवों में तथा 25 हजार शहरों में होंगे।

लखनऊ में आइपीपीबी का शुभारंभ केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, मीरजापुर में केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल, केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी, अमेठी में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, हरदोई में सांसद अंजूबाला, उन्नाव में सांसद साक्षी महाराज, कानपुर में सांसद देवेंद्र सिंह भोले, श्रावस्ती में सांसद दद्दन मिश्र, फैजाबाद में सांसद लल्लू सिंह, बहराइच में सांसद सावित्री बाई फूले आदि ने किया। इस मौके पर प्रतिनिधियों ने कहा कि अब बैंकों के साथ डाकघर कदमताल करेंगे। शहरी क्षेत्र के अलावा ग्रामीण अंचलों तक बैंकिंग सेवाएं आसानी से पहुंचेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *