पैरालंपिक व एशियन गेम्स विजेता के दादा-दादी की डकैती के बाद हत्या

murder

ग्रेटर नोएडा, 13 अक्टूबर (वेबवार्ता)। पैरालंपिक व पैरा एशियन गेम्स में मेडल पाने वाले वरुण भाटी के रिश्ते के दादा-दादी की गांव में ही डकैती के दौरान हत्या कर दी गई। बदमाशों ने दो घरों में डकैती डाली। दूसरे घर में बदमाशों ने दंपती से मारपीट कर घायल कर दिया। इस पर गांव में भारी पुलिस बल तैनात है। वहीं, डकैती के दौरान हुए दोहरे हत्याकांड के पर्दाफाश के लिए पांच टीमें गठित की गई हैं।

जमालपुर गांव में वरुण के रिश्ते के दादा-दादी आजाद उर्फ कालूराम व देववती रहते थे। आजाद का बेटा अपने परिवार के साथ दिल्ली के खजूरी में रहता है। आजाद भी अपने बेटे के साथ ही रहते थे। अक्सर वह गांव आते थे। तीन साल पहले वह दिल्ली जल निगम बोर्ड से सेवानिवृत्त हुए थे और तीन अक्टूबर को गांव आए थे। वह और उनकी पत्नी शुक्रवार रात घर में सोए थे। देर रात 12 बजे के बाद घर में तीन बदमाश घुसे और डकैती डाली। विरोध पर बदमाशों ने धारदार हथियार से गला रेतकर आजाद व उनकी पत्नी देववती की हत्या कर दी। घर से बदमाश कितना सामान ले गए हैं, इसकी अभी सटीक जानकारी नहीं मिली है। घर से सोने-चांदी के आभूषण समेत काफी सामान गायब है। घरवालों का कहना है कि अंतिम संस्कार के बाद गायब सामान के बारे में सही जानकारी दी जा सकेगी। ग्रामीणों ने पुलिस की लापरवाही की वजह से घटना होने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों का आरोप है कि चौकी इंचार्ज ने दो दिन पहले गांव में पकड़े गए चोर को छोड़ दिया था।

इसके बाद बदमाशों ने आजाद के घर से 300 मीटर की दूरी पर स्थित दूसरे घर में भी धावा बोला। घर में सो रहे दंपती सुधीर व शोभा पर लोहे की राड से हमला कर उनको घायल कर दिया। इसी दौरान बाहर से चलो की आवाज आई और बदमाश चले गए। आजाद व देववती की हत्या धारदार हथियार से गला रेत कर की गई है। फोरेंसिक टीम ने मौके से खून के धब्बे एकत्र कर जांच के लिए भेजे हैं।

एसएसपी डॉ. अजय पाल शर्मा ने बताया कि घटना के पर्दाफाश के लिए पुलिस की पांच टीमें लगाई गई हैं। प्रथम दृष्टया जांच के दौरान मामला लूट के दौरान हत्या का लग रहा है। जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *